The school has achieved the All India rank of 108 as per "The Learning Point" among "Top CBSE Schools Based on Exam Results of 2016.
School Timing: 7:55 AM - 2:20 PM
Chairperson's Message

अध्यक्षा के मन से

अभिभावक वर्ग एवम् प्रिय बच्चो !

 

विनय शील आदर्श श्रेष्ठता , तार बिना झंकार नहीं है

शिक्षा क्या स्वर साध सकेगी ? यदि नैतिक आधार नहीं है

नैतिकता के उत्थानो मे , जीवन का उत्थान न भूलें

निर्माणों के पावन युग में , हम चरित्र निर्माण न भूलें

 

एन. के . बागड़ोदिया विद्यालय परिवार मानव जीवन के सम्पूर्ण विकास के लिए शिक्षा को साधन मानकर राष्ट्र के भावी नागरिकों बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा का प्रबंध करता है ।

 

विद्यालय मे कहीं खिलखिलाते, चहकते, तो कहीं कक्षाओं में पढ़ते बच्चों को देख मन को बहुत संतोष मिलता है। मुझे स्वर्गीय श्री ‘नंद किशोर जी’ पर गर्व होता है कि उन्होंने इस विद्यालय की स्थापना कर आप सभी को अपना जीवन उन्नत बनाने के लिए एक आधार दिया और समाज व  देश के प्रति अपनी नैतिक ज़िम्मेदारी निभाई। मेरा तो मानना है

                     उपलब्धियॉं आपके कदम चूमती हैं ,

                    जब उड़ान आसमान की ओर होती है ।

प्यारे बच्चों! आप सबके ‘चेयरमैन सर’ दिवंगत श्री ‘नंद किशोर जी’ ने ‘एन. के. बागड़ोदिया विद्यालय’ रूपी नन्हा-सा पौधा लगाया था। एक माली की तरह अपनी मेहनत व इच्छाशक्ति से उसे सींचा और आज आप सबके सहयोग से वह एक विशाल वृक्ष के रूप में दिखाई दे रहा है और अब इसके फल-फूलों की सुगंध चारों ओर फैल रही है। वर्ष - प्रतिवर्ष सफलता के सोपान चढ़ता बारहवीं’ कक्षा का परिणाम इसका उदाहरण है।इसके लिए प्रबंध समिति से जुड़े सभी गणमान्य जन, निर्देशक जी, प्रधानाचार्या जी, समस्त अध्यापक वर्ग, विद्यार्थी गण एवं उनके अभिभावक भी बधाई के पात्र हैं।!

 

आपके ‘चेयरमैन सर’ का एक सपना था कि यह विद्यालय पढ़ाई लिखाई , खेल कूद आदि में न केवल दिल्ली, अपितु राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाए । आज वे हमारे बीच नहीं हैं पर उनका यह सपना हमें साकार करना है । मुझे खुशी है कि आप सबके सहयोग से  हमारा विद्यालय विश्व स्तर पर भी अपनी पहचान बना रहा है। पिछले दिनों ‘इंटरनेशनल एक्सचेंज प्रोग्राम’ के तहत फ़्रांस व डेनमार्क से छात्रों व अध्यापकों का एक दल हमारे विद्यालय में आया और हमारे विद्यार्थी भी फ़्रांस व डेनमार्क की सभ्यता- संस्कृति, शिक्षा प्रणाली आदि को समझने के लिए वहॉं की यात्रा पर गए।इसके लिए आप सबका प्रयास सराहनीय है , परंतु यह तो केवल आरंभ है ,अभी यात्रा बहुत लंबी है । मुझे विश्वास है कि आप सबके सामूहिक प्रयास से यह विद्यालय ‘स्व. श्री नंद किशोर जी’ के सपनों को पूरा करता हुआ, आपके सपनों को पंख लगाता हुआ अनुशासन , श्रम , आत्मबल के आधार पर दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की करता रहेगा। मेरा आशीर्वाद व शुभकामनाएँ सदैव आप सबके साथ हैं।  

सधन्यवाद ।

अध्यक्षा

श्रीमती पुष्पा देवी बागड़ोदिया